50+ भारतीय इतिहास के प्रमुख युद्ध और लड़ाइयां | Itihas Ke Pramukh Yudh

इतिहास में हुए प्रमुख युद्ध भारत के इतिहास का महत्वपूर्ण टॉपिक है, जहां से प्रत्येक परीक्षा में प्रश्न पूछे जाते हैं, इसलिए आप इस पूरी पोस्ट को ध्यान से पढ़िए पर याद कीजिए |

सर्वप्रथम यहां पर सभी युद्ध के बारे में संक्षिप्त में पूरी लिस्ट दी है, जहां पर युद्ध का नाम, वर्ष और जिनके बीच में युद्ध हुआ उनकी जानकारी दी है | उसके बाद में कुछ प्रमुख युद्ध के बारे में विस्तार से भी जानकारी दी हैं, तो आप पूरा जरूर पढ़ें |

इस टॉपिक के साथ सभी विषयों की PDF एक साथ डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके Download कर पाएंगे |

महत्वपूर्ण बिंदु –

भारतीय इतिहास के प्रमुख युद्ध सूची | Itihas Ke Pramukh Yudh List

युद्ध का नाम वर्ष युद्ध किनके बीच हुआ
हाइडेस्पीज का युद्ध 326 ई.पू. सिकंदर ने राजा पोरस को पराजित किया
कलिंग युद्ध 261 ईसा पूर्व अशोक ने कलिंग शासक को हराया
रावर का युद्ध 712 ईसवी मोहम्मद बिन कासिम ने सिंध के राजा दाहिर को हराया
पेशावर का युद्ध 1001 ई. मोहम्मद गजनबी ने राजा जयपाल को हराया
तराइन का प्रथम युद्ध 1191 पृथ्वीराज चौहान की जीत हुई
तराइन का द्वितीय युद्ध 1192 मोहम्मद गौरी की पृथ्वीराज पर जीत हुई
चंदावर का युद्ध 1194 मोहम्मद गोरी ने जयचंद को हराया
पानीपत का प्रथम युद्ध 1526 बाबर ने इब्राहिम लोदी को हराया
खानवा का युद्ध 1527 बाबर ने राणा सांगा को हराया
चंदेरी का युद्ध 1528 बाबर के खिलाफ मेदिनीराय की हार हुई
घाघरा का युद्ध 1529 बाबर ने महमूद लोदी को हराया
दौराह का युद्ध 1532 हुमायूं ने शेर शाह सुरी को हराया
चौसा का युद्ध 1539 शेरशाह सूरी ने हुमायूं को हराया
कन्नौज /बिलग्राम का युद्ध 1540 शेर शाह ने हुमायूं को हराकर सूर वंश की स्थापना की
मछीवाड़ा का युद्ध 1555 हुमायूं ने अफगान शासक सालार खान को हराया
सरहिंद का युद्ध 1555 हुमायूं ने शेरशाह को हराकर मुगल वंश दोबारा स्थापित किया
पानीपत का द्वितीय युद्ध 1556 अकबर ने हेमू को हराया
तालीकोटा का युद्ध 1556 बहमनी साम्राज्य ने विजयनगर को पराजित किया
हल्दीघाटी का युद्ध 1576 महाराणा प्रताप और अकबर के बीच हुआ
अहमदनगर का युद्ध 1600 अकबर ने चांदबीबी (गोंडवाना) को हराया
असीरगढ़ का युद्ध 1601 अकबर ने मियां बहादुर पर विजय प्राप्त की
धर्मत का युद्ध 1658 औरंगजेब ने दारा शिकोह को हराया
सामुगढ़ का युद्ध 1658 औरंगजेब ने दोबारा दारा शिकोह को पराजित किया
खेड़ा का युद्ध 1707 मराठा छत्रपति साहू ने ताराबाई को हराया
भोपाल का युद्ध 1737 बाजीराव प्रथम के नेतृत्व में मराठों ने मुगलों को हराया
करनाल का युद्ध 1739 नादिर शाह ने मोहम्मद शाह (मुगल) को हराया
गिरिया का युद्ध 1740 अलीवर्दी खान (बंगाल) ने सरफराज खाँ को हराया
प्रथम कर्नाटक युद्ध 1744 से 48 फ्रांसीसियों ने अंग्रेजों को हराया
द्वितीय कर्नाटक युद्ध 1750 से 54 अंग्रेजों ने फ्रांसीसियों को हराया
तृतीय कर्नाटक युद्ध 1757 से 63 दोबारा अंग्रेजों की विजय हुई तीनों कर्नाटक युद्ध पढ़ें
प्लासी का युद्ध 1757 अंग्रेजों ने बंगाल पर विजय प्राप्त की
बेदरा का युद्ध 1759 अंग्रेजों ने डच को हराया
वांडीवाश का युद्ध 1760 अंग्रेजों ने पूर्णतया फ्रांसीसियों को हराया
पानीपत का तृतीय युद्ध 1761 अहमद शाह अब्दाली ने मराठों को हराया
बक्सर का युद्ध 1764 अंग्रेजों ने बंगाल, अवध और मुगल तीनों को हराया
प्रथम आंग्ल-मैसूर युद्ध 1766 से 69 हैदर अली ने अंग्रेजों को हराया
रुहेला का युद्ध 1773-74 अंग्रेजों ने हाफिज खान को हराया
शिंदखेड़ा का युद्ध 1775 मराठा निजाम पर विजय प्राप्त की
प्रथम आंग्ल मराठा युद्ध 1775-82 अंग्रेज और मराठों के बीच हुई
द्वितीय आंग्ल मैसूर युद्ध 1780-84 टीपू सुल्तान ने अंग्रेजों को हराया
तृतीय आंग्ल मैसूर युद्ध 1790-92 अंग्रेजों ने टीपू सुल्तान को हराया
चौथा आंग्ल मैसूर युद्ध 1799 अंग्रेजों की विजय के साथ टीपू सुल्तान की मौत
यहां से पढ़ें सभी आंगल मैसूर युद्ध
द्वितीय आंग्ल मराठा युद्ध 1803-6 अंग्रेजों ने मराठों को पराजित किया

भारतीय इतिहास की प्रमुख लड़ाइयां और युद्ध

प्राचीन भारतीय इतिहास के युद्ध

 

हाईडेस्पीज का युद्ध (326 ईसा पूर्व)

हाईडेस्पीज का युद्ध सिकंदर और पंजाब के राजा पोरस के बीच में हुआ था, जिसमें सिकंदर की विजय हुई थी | इस युद्ध को झेलम का युद्ध भी कहा जाता है क्योंकि यह झेलम नदी के तट पर लड़ा गया था |

 

कलिंग का युद्ध (261 ईसा पूर्व)

कलिंग का युद्ध मौर्य सम्राट अशोक और कलिंग के राजा के बीच में हुआ था, जिसमें अशोक की विजय हुई थी | विजय के बावजूद युद्ध में हुए रक्तपात को देखकर अशोक ने भविष्य में युद्ध ना करने की घोषणा की और बौद्ध धर्म अपनाकर धम्म नीति की घोषणा की |

सिंध की लड़ाई (712 ईसवी)

712 में पहली बार भारत पर अरबों का आक्रमण हुआ | जब मोहम्मद कासिम ने सिंध के राजा दहिर के खिलाफ युद्ध के लिए आया | इस युद्ध को मोहम्मद कासिम ने जीता उसके बाद लगातार भारत पर अरबों के आक्रमण होते रहे |

तराइन का प्रथम युद्ध (1191)

तराइन का पहला युद्ध मोहम्मद गौरी और पृथ्वीराज चौहान तृतीय के बीच में 1191 में हुआ | इस युद्ध में मोहम्मद गोरी की हार हुईऔर पृथ्वीराज चौहान की विजय गाथा पूरे भारत में सुनाई दी गई |

तराइन का द्वितीय युद्ध (1192)

तराइन के पहले युद्ध में हार का बदला लेने के लिए मोहम्मद गोरी 1192 में दोबारा युद्ध करने आता है | इस बार राजा जयचंद के षड्यंत्र के कारण मोहम्मद गौरी की जीत होती है और पृथ्वीराज की हार हो जाती है | मोहम्मद गोरी अपने सेनापति कुतुबुद्दीन ऐबक को भारत का शासन सौंपकर वापस चला जाता है और इस प्रकार भारत में मुस्लिम शासन की स्थापना होती है | दिल्ली सल्तनत के पहले वंश गुलाम वंश की स्थापना 1206 में कुतुबुद्दीन ऐबक ने की थी |

 

मध्य भारतीय इतिहास के प्रमुख युद्ध

 

पानीपत का प्रथम युद्ध (1526)

पानीपत का पहला युद्ध पहले मुगल शासक बाबर और इब्राहिम लोदी के बीच में 1526 में हुआ था | इस युद्ध में बाबर ने जीत के साथ भारत में मुगल वंश की स्थापना की और दिल्ली सल्तनत का अंत हुआ | दिल्ली सल्तनत का अंतिम शासक लोदी वंश के इब्राहिम लोदी थे | बाबर की जीत का मुख्य कारण है भारत में पहली बार तोपों का इस्तेमाल किया जाना था |

पानीपत का द्वितीय युद्ध (1556)

पानीपत का द्वितीय युद्ध मुगल शासक अकबर और हेमू के बीच में हुआ था | इस युद्ध में अकबर की सेना के सेनापति बैरम खान ने हेमू को मारने के साथ युद्ध को जीत लिया | हेमू को हेमचंद्र विक्रमादित्य के रूप में जाना जाता है | यह अफगान शासक मोहम्मद आदिल शाह का सेनापति था |

हल्दीघाटी का युद्ध (1576)

हल्दीघाटी का युद्ध मुगल शासक अकबर और मेवाड़ के राणा महाराणा प्रताप के बीच में 18 जून 1576 को हुआ था | इस युद्ध में अकबर की तरफ से राजा मानसिंह ने हिस्सा लिया जबकि महाराणा प्रताप का साथ स्थानीय भीलों ने दिया था | इतिहास का यह प्रसिद्ध युद्ध के नतीजे को लेकर आज भी मतभेद हैं लेकिन एक बात स्पष्ट है कि किसी भी एक पक्ष की स्पष्ट जीत नहीं हुई ना अकबर हारा और ना ही वह मेवाड़ पर कब्जा कर पाया |

आधुनिक भारतीय इतिहास के युद्ध

प्लासी का युद्ध (1757)

प्लासी का युद्ध 23 जून 1757 को ईस्ट इंडिया कंपनी तथा बंगाल के नवाब सिराजुद्दौला के बीच में हुआ इस युद्ध में रॉबर्ट क्लाइव के नेतृत्व वाली ब्रिटिश सेना की जीत हुई और मीर जाफर को बंगाल का नया नवाब बनाया गया | भारतीय इतिहास में यह युद्ध काफी महत्वपूर्ण है इस पर अलग से जानकारी के लिए पूरा पढ़े प्लासी का युद्ध |

वांडीवाश का युद्ध (1760)

वांडीवाश का युद्ध ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी और फ्रेंच ईस्ट इंडिया कंपनी के बीच में 1760 में हुआ, जिसमें फ्रांसीसियों की हार के साथ भारत में उनकी शक्ति का अंत हो गया | वांडीवाश के युद्ध के बाद में ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी ही एकमात्र प्रमुख यूरोपीय शक्ति के रूप में उभरी |

पानीपत का तृतीय युद्ध (1761)

मुगल शक्ति कमजोर होने के साथ ही मराठा प्रमुख शक्ति के रूप में उभरे और उत्तर भारत की ओर भी शासन को फैलाने लगे | लेकिन 1761 में अफगान शासक अहमद शाह अब्दाली और मराठा के बीच में पानीपत के तीसरे युद्ध में मराठों की हार होने के साथ उनका यह सपना अधूरा रह गया |

बक्सर का युद्ध (1764)

बक्सर का युद्ध ईस्ट इंडिया कंपनी और बंगाल के नवाब मीर कासिम अवध के नवाब सुजाउद्दौला और मुगल शासक शाह आलम द्वितीय की संगठित सेनाओं के बीच में हुआ | इसके बावजूद ईस्ट इंडिया कंपनी ने इस युद्ध को जीत लिया और पूरे उत्तर भारत पर बड़ी शक्ति के रूप में उभरा और इसी युद्ध के बाद में ईस्ट इंडिया कंपनी भारत में प्रशासन में और ज्यादा शामिल हुई | यह युद्ध भी महत्वपूर्ण है यहां से पूरी जानकारी पढ़ें बक्सर युद्ध के बारे में |

इतिहास के प्रमुख युद्ध से संबंधित प्रश्न [FAQ]

  1. तराइन का युद्ध किनके बीच में हुआ था ?

    तराइन का युद्ध मोहम्मद गौरी और पृथ्वीराज चौहान तृतीय के बीच में हुआ था | प्रथम तराइन युद्ध (1191) में पृथ्वीराज चौहान की विजय हुई और दूसरे युद्ध (1192) में मोहम्मद गोरी की विजय हुई | इस पोस्ट में सभी युद्ध की जानकारी है |

  2. बाबर द्वारा लड़े गए प्रमुख युद्ध कौन से हैं ?

    बाबर द्वारा निम्नलिखित युद्ध लड़े गए थे – 1.पानीपत का प्रथम युद्ध (1526), 2.खानवा का युद्ध (1527), 3.चंदेरी का युद्ध (1528) और 4.घाघरा का युद्ध (1529)

  3. प्लासी के युद्ध में किसकी विजय हुई ?

    23 जून 1757 को ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी और बंगाल के नवाब सिराजुद्दौला के बीच हुए प्लासी के युद्ध में ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी की विजय हुई और बंगाल का नया नवाब मीर जाफर को बनाया |

  4. हल्दीघाटी का युद्ध कब हुआ था ?

    हल्दीघाटी का युद्ध महाराणा प्रताप और अकबर के बीच में 18 जून 1576 को हुआ था |

  5. कलिंग का युद्ध किस मौर्य शासक ने लड़ा था ?

    कलिंग का युद्ध मौर्य शासक अशोक ने 261 ईसा पूर्व में लड़ा था |

अगर आपको यह पूरी पोस्ट अच्छी लगे, तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर कर सकते हैं | यहां क्लिक करके सभी PDFs डाउनलोड करें और नई अपडेट के लिए हमारे Telegram Channel से अभी जुड़े |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *