ज्योति संग इश्क में हरे हो गए पुराने जख्म! एक नहीं तीन केस में फंसे कमांडेंट मनीष

मनीष दुबे की ज्योति केस में एंट्री होते ही नए-नए ट्विस्ट सामने आने लगे. पहले तो सिर्फ आलोक और ज्योति के विवाद में मनीष का नाम आया था, लेकिन उनकी पत्नी और एक महिला होमगार्ड ने भी उन पर गंभीर आरोप लगाए हैं

एसडीएम ज्योति मौर्या और आलोक मौर्या के विवाद में अगर किसी को सबसे अधिक फजीहत झेलने पड़ी तो वो हैं होमगार्ड कमांडेंट मनीष दुबे. बेचारे मनीष दुबे का पहले तो गाजियाबाद से महोबा ट्रांसफर कर लिया गया. महोबा पहुंचते ही उन पर जांच बैठा दी गई. रही सही कसर पत्नी और अमरोहा की महिला होमगार्ड ने आरोप लगाकर पूरी कर दी. अब बेचारे मनीष जांच में भी दोषी पाए गए हैं और उन पर डीजी होमगार्ड ने कार्रवाई के लिए संस्तुति भी कर दी है

कुल मिलाकर मनीष दुबे पर बिन बुलाई आफत टूट पड़ी है. मनीष दुबे की इस केस में एंट्री होते ही नए-नए ट्विस्ट सामने आने लगे हैं. पहले तो सिर्फ आलोक और ज्योति के विवाद में मनीष दुबे का नाम सामने आया था, लेकिन उनकी पत्नी ने भी उन पर गंभीर आरोप लगाए हैं. मनीष के कैरेक्टर पर उन्होंने सवाल उठाए हैं. वहीं दहेज के लिए प्रताड़ित करने का भी जिक्र किया

साथ ही साथ अमरोहा की एक महिला होमगार्ड से छेड़खानी को लेकर भी मनीष दुबे घिर चुके हैं. मामला चूंकी पुराना है. इस समय मनीष की वहां तैनाती नहीं है, तो फिर सवाल उठता है कि एक-एक बाद मामले कैसे उजागर होने लगे? चूंकी ज्योति मौर्या का मामला इतना अधिक सुर्खियों में आ गया कि मनीष दुबे पर चल रहे और मामलों की फाइल भी खुलने लगी, जो उनकी कारस्तानी को उजागर करने के लिए काफी है

महिला होमगार्ड ने मनीष दुबे पर गलत नियत के चलते दबाव बनाने का आरोप लगाया था. अपनी शिकायत में महिला होमगार्ड ने कहा था कि कमांडेंट मनीष दुबे अकेले में उसे मिलने के लिए बुलाते थे. उसने मनीष दुबे की बात मानने से मना कर दिया तो दो महीने तक उसे ड्यूटी तक नहीं करने दी गई. इसकी शिकायत उसने पुलिस-प्रशासन के आला अधिकारियों से भी की थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई. इस पर उसने अपना ट्रांसफर करवा लिया, ताकि मनीष दुबे की प्रताड़ना से बच सके

मनीष-ज्योति ने रची मेरी हत्या की साजिश- आलोक

वहीं एसडीएम ज्योति मौर्या के पति आलोक मौर्या ने भी मनीष दुबे पर गंभीर आरोप लगाए थे. आलोक मौर्या ने कहा था कि मनीष उसकी हत्या करा सकते हैं. मनीष, ज्योति के साथ मिलकर उसकी हत्या की साजिश रच रहे हैं. आलोक ने इसको लेकर एक कॉल रिकॉर्डिंग भी होमगार्ड संगठन को दी थी, जिसके बाद डीजी होमगार्ड ने मामले की जांच के आदेश दिए थे.

DG होमगार्ड ने मनीष दुबे के निलंबन की संस्तुति की

जब मनीष के खिलाफ डीआईजी होमगार्ड संतोष कुमार सिंह ने जांच शुरू की तो आलोक के आरोपों के अलावा तीन और मामलों का जिक्र अपनी रिपोर्ट में सौंप दिया, जिसके बाद डीजी होमगार्ड विजय कुमार मौर्या ने मनीष दुबे के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई को लेकर शासन से संस्तुति कर दी. अब जल्द ही वह सस्पेंड हो सकते हैं. अब यह कहा जा सकता है इस केस में भले ही ज्योति अभी तक बची हों, लेकिन मनीष दुबे बुरी तरह के घिर चुके हैं और कार्रवाई की जद में हैं

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *