केले के फायदे और पेड़ की जानकरी

केले का पेड़ की जानकारी

केले का पेड़ मूसा प्रजाति का एक घासदार पौधा होता है, जिस पर लगने वाले फल को केला कहते है। केले की खेती सबसे पहले पपुआ न्यू गिनी जो की दक्षिण पूर्व एशिया के उष्णकटिबंधीय क्षेत्र में हुई थी। केले का पौधा एकबीजपत्री होता है, जिसका वंश मूसा परेडसिका है ।

जिसके कारण इसका वानस्पतिक नाम मूसा है, अंग्रेजी में केले को “Banana” कहते है। इसका सबसे पहला प्रमाण 4000 साल पहले मलेशिया में पाया गया था। केले की खेती सबसे ज्यादा इसका फल प्राप्त करने के लिए की जाती है। इसके अलावा इन पोधो को इनका रेशा प्राप्त करने के लिए और सजावटी रूप में भी लगाया जाता है।

केले के पौधे का तना सीधा होता है। इसके तने बहार से देखने में बहुत ही मजबूत नजर आते है। जिसके कारण इन पोधो को कभी कभी पेड़ भी समझ लिया जाता है। लेकिन मुख्य रूप से यह पोधो की सूचि में आता है। इसका तना अंदर से छलनिदार होता है, जो की कई परतो से मिलकर बना होता है। यह पानी में डूबता नहीं है।

यह प्रजाति के अनुसार अलग अलग ऊंचाई वाले होते है। सामान्यतौर पर केले के तने की ऊंचाई लगभग 2-8 मीटर तक होती है, और इसकी पत्तियों लम्बाई 3 से 5 मीटर होती है। इन पत्तियों की चौड़ाई भी लगभग 2 से 5 फुट तक होती है। इन पत्तियों की ज्यादा चौड़ाई होने के कारण यह हवा से फट जाती है। जब पत्तियां पुरानी होने लगती है, तो इनके किनारे सूखने लगते है।

केले के फल एक छत्ते पर आते है, जिसे सामन्य भाषा में (केले की गेल) भी कहा जाता है। इस छत्ते पर हरे केले गुच्छो में लगते है, जो की पकने के बाद पीले रंग के हो जाते है। लेकिन कभी कभी कुछ प्रजातियों में ऐसा भी देखा गया है, की केले छत्ते पर पकने के बाद लाल रंग के भी हो जाते है। जब सभी फल पक जाते है, तो छत्ता सूखने लगता है। इसके बाद फिर से नए मौसम में नया छत्ता आता है।

केले के फल लगने से पहले इस पर एक बड़ा सा फूल आता है, जिसका रंग महरूम होता है। इसके अंदर कई छोटी छोटी केले की फलियां होती है। जो की बड़े होकर केले के गुच्छो में परिवर्तित होती है। यह एक पक्ति के रूप में लटकते हुए बड़े होते है। एक पक्ति में लगभग 5 से 15 केले तक होते है। केले की इस लटकती हुई गेल को “बनाना स्टेम” भी कहा जाता है।

बनाना स्टेम का वजन केले के पोधो की प्रजाति पर निर्भर करता है। अगर यह एक उन्नतशील किस्म के पौधे होते है, जिन पर केलो का आकर बड़ा आता है, तो इस स्टेम का वजन लगभग 40 से 60 किलो के बिच होता है। एक केले का वजन लगभग 100 से 150 तक होता है। केले के ऊपर एक बाहरी सुरक्षात्मक परत होती है, जो की इस फल को ढके होती है। इस परत को केले का छिलका कहते है। जिसके अंदर मांसल खाद्य भाग होता है, जिसे हम फल के रूप में खाते है।

केला खाने के फायदे और नुकसान

केला अपने गुणों और स्वाद को लेकर हमेशा से लोगो को बिच प्रिय रहा है। यह उन चुनिंदा फलो की सूचि में आता है, जो की हमारे स्वस्थ के लिए अति लाभदायक होते है। यह हमारे शरीर को तुरंत एनर्जी प्रदान करने में भी बहुत फायदेमंद होता है। अगर आप अपना वजन घटना चाहते है या फिर बढ़ाना चाहते है, दोनों ही प्रकार से केला आपके स्वास्थ्य और शरीर के लिए लाभदायक होता है। इसके अंदर मौजूद फाइबर हमारे पेट को सुचारु रूप से स्वस्थ रखता है। इसके अंदर मैग्नीशियम की मात्रा भी पायी जाती है, जो की डायबिटीज को कम करने के लिए बहुत मददगार होती है। अब जानते है, केला खाने के फायदे के बारें में –

Banana Information In hindi

केला खाने के फायदे

1. केला खाने से हृदय सम्बन्धी रोगो में बहुत लाभ मिलता है। इसके अंदर समृद्ध मात्रा में पोटैशियम पाया जाता है, जो की खून को नियंत्रित करने में बहुत फायदेमंद होता है। कुछ अध्यनो में पाया गया है, की अगर शरीर में पोटैशियम की मात्रा कम होने लगती है, तो रक्तचाप बढ़ने लगता है, जिसकी वजह से हृदय रोग सम्बन्धी बीमारियां होने का खतरा बना रहता है।

2. केला हमारे पाचन तंत्र को मजबूत बनता हैं, इसके अंदर प्रचुर मात्रा में फाइबर पाया जाता है। फाइबर की मात्रा हमारे पाचन तंत्र को सुचारु रूप से कार्य करने में मदद करती है। जिसकी वजह से हमारा खाया हुआ खाना आसानी से पच जाता है। इसके अलावा इसके सेवन से कब्ज की समस्यां भी दूर होती है।

3. केले के अंदर विटामिन-बी 6 पाया जाता है। जो की हमारे मस्तिष्क के लिए बहुत फायदेमंद होता है। विटामिन बी 6 मस्तिष्क को हमेशा सक्रीय रहने में मदद करता है। अगर शरीर में विटामिन-बी 6 की कमी आ जाती है, तो इसकी वजह से मष्तिष्क कमजोर होने लगता है। इसकी कमी को पूरा करने के लिए आप प्रत्येक दिन एक केले का सेवन कर सकते है।

4. जब हमारे शरीर के अंदर सेरोटोनिन और मेलाटोनिन योगिक की कमी होने लगती है, तो हमें अनिंद्रा की समस्यां हो जाती है। अगर आप एक अच्छी नींद लेना चाहते हैं, तो केले का सेवन शुरू कर दीजिये। इसके अलावा इसके अंदर मैग्नीशियम की प्रचुर मात्रा होती है, जो की मांसपेशियों को भी आराम पहुंचाता है। आम रात को सोने से लगभग दो घंटे पहले एक केला खा सकते है।

5. केले का सेवन हमारी आँखों के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। इसके अंदर विटामिन ए पाया जाता है, जो की हमारी आँखों की रौशनी के लिए फायदे देता है। यह हमारी आँख के रेटिना में पिगमेंट को बढ़ाता है। जिसकी वजह से बढ़ी उम्र के कारण धुंधला नहीं दिखता है। इसके अलावा इसमें और भी कई पोषक तत्व पाए जाते है। जो स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होते है।

6. कभी कभी हमारे शरीर पर कोई ऐसा कीड़ा काट लेता है, जिसके काटने से जलन होने लगती है, और उस जगह पर सूजन भी होने लगती है। अगर आपके साथ कभी ऐसा हो जाएँ, तो आप के काटी हुई जगह पर केले के छिलके को कुछ देर के लिए रगड़ लीजिये। इससे आपके जलन नहीं होगी, साथ में सूजन भी खत्म हो जायेगी।

7. अगर आप तनाव महसूस कर रहें, तो इससे छुटकारा पाने के लिए आप केले का सेवन कर सकते है। इसके अंदर विटामिन-बी 6 और कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है, जो आपको एनर्जी प्रदान करता है। कुछ अध्यनो के अनुसार ऐसा भी माना गया है, की विटामिन-बी 6 से मस्तिष सक्रीय रहता है। जिसकी वजह से तनाव दूर होता है।

8. अगर आपका वजन ज्यादा है, और आप वजन कम करना चाहते है, तो केले से अच्छा फल आपके लिए कुछ नहीं हो सकता है। इसके अंदर उच्च मात्रा में फाइबर पाया जाता है। जो की कैलोरी को बढ़ाएं बिना आपका पेट भरता है। आप डाइट में केले का सेवन कर सकते है। इसके अलावा अगर आप केले को दूध के साथ सेवन करते है, तो यह आपका वजन बढ़ा भी सकता है। इसके लिए आप किसी अच्छे ट्रेनर की सलाह ले।

9. केला के अंदर कैल्शियम की प्रचुर मात्रा पायी जाती है। कैल्शियम हड्डियों को मजबूत और स्वस्थ रखने में बहुत फायदेमंद होता है। अगर प्रतिदिन एक केले का सेवन करते है, तो इससे आपके शरीर में कैल्शियम की वृद्धि होती है। जिसकी वजह से आपकी हड्डियां मजबूत होती है।

10. अगर आपको किसी वजह से नशा हो गया है। तो आप इसके लिए केले का सेवन कर सकते है। जब भी आप एल्कोकल का सेवन करते है, तो इससे शरीर के अंदर पोटैशियम व सोडियम की मात्रा असंतुलित हो जाती है। जिसकी वजह से नशा और भी ज्यादा बढ़ने लगता है। इसके लिए आप एक केला खा सकते है। यह शरीर में पोटैशियम की मात्रा को बढ़ाता है, जिसकी वजह से नशा हल्का होने लगता है। इसके अलावा इसके अंदर सोडियम की भी कुछ मात्रा पायी जाती है।

 11. केला हमारे दांतो के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। अगर आप केले के छिलके को हफ्ते में तीन या चार बार अपने दांतो पर रगड़ते है, तो इससे आपके दांत सफ़ेद दिखाई देने लगते है। इससे दांतो की चमक भी बढ़ती है। यह दन्त साफ़ करने का एक घरेलु नुस्खा है।

12. अगर हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। तो हम कई भी बीमारी जल्दी से नहीं लगती है। इससे हमें किसी भी तरह का संक्रमण लगने का खतरा भी नहीं रहता है। अगर आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम है, जो हो सकता है, की आपके अंदर विटामिन ए की कमी है। यह विटामिन-ए इम्यून सिस्टम मजबूत और स्वस्थ बनता है। इसके लिए आप नाश्ते में एक केले का सेवन कर सकते है। यह आपकी प्रतिराधक क्षमता हो बढ़ता है।

13. केले में लगभग प्रति 100 ग्राम में 89 कैलोरी होती है। जो की हमारी ऊर्जा को बढ़ाने के लिए काफी है। अगर अपनी दिनचर्या के कार्य में कभी थकान महसूस करते है, तो आप केले का सेवन कर सकते है। इसके अलावा आप केले का शेक भी पी सकते है। इसके अंदर कार्बोहाइड्रेट, पोटैशियम, प्रोटीन आदि कई पोषक तत्व पाए जाते है। जो की शरीर को तुरंत ऊर्जा प्रदान करने में सहायक होते है।

रात को केला खाने के फायदे

केला स्वास्थ्य के लिए लाभदायक माना जाता है, लेकिन फिर भी कुछ लोग केले को रात में ना खाने की सलाह देते है, क्योकिं केले को रात में खाना स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं माना जाता है। तो चलिए जानते है केला रात को क्यों नहीं खाना चाहिए?

1. केला रात को ना खाने की सलाह इसलिए दी जाती है, क्योकिं इसकी तासीर ठंडी होती है। जिसकी वजह से जुकाम और खांसी होने का खतरा बना रहता है। इसके अलावा केला देर से पचने वाला फल है, इसे खाने के बाद आपको सुस्ती जैसा भी महसूस हो सकता है।

2. आयुर्वेदिक वैद्य और डॉक्टर का कहना है, की अगर आप बिलकुल स्वस्थ है। आपको किसी भी प्रकार की खांसी या जुकाम जैसी समस्यां नहीं है, तो आप रात को केले का सेवन कर सकते है। इसके अलावा आप शाम के समय व्यायाम या जिम करने के बाद केले का सेवन या फिर बनाना शेक बनाकर पी सकते है। यह आपकी सेहत के लिए लाभदायक है।

3. अगर आप रात को सोने से एक या दो घंटे पहले एक केला खाते है, तो इससे आपको अच्छी नींद आती है। क्योकिं केले के अंदर पोटैशियम की समृद्ध मात्रा होती है, जो की हमारी मासपेशियों को आराम पहुँचाती है।

4. अगर आपने कभी ज्यादा मसालेदार भोजन या फिर कोई ज़िंक फ़ूड का सेवन किया है। तो इससे आपके सीने में जलन की समस्या हो सकते है। इससे बचने के लिए आप रत को एक केले का सेवन कर सकते है। यह सीने की जलन को कम करने में फायदेमंद रहता है।

केले का उपयोग

केले के स्वास्थ्य सम्बन्धी कई उपयोग है। लेकिन यह आपके स्वास्थ्य के लिए तभी लाभदायक होता है। जब आप इसका उपयोग एक सही तरीके से करते है। जानते है, केले का उपयोग खाने के लिए कैसे करना चाहिए।

केले की चाय

आप केले की चाय का भी आनंद ले सकते है। इसे बनाना बहुत ही आसान होता है। इसके लिए आपको लगभग 4 से 5 कप पानी लेना है। इसको किसी भी स्टील के बर्तन में गर्म करने के लिए रख दें। जब पानी उबालना शुरू हो जाएँ, तो उसमे केले के दोनों सिरों को केले से अलग करके केले को बर्तन में डालकर एक उबाल और दे देना चाहिए। इसके बाद आप इस पानी को छानकर इसके अंदर शहद डालकर पी सकते है। यह बहुत ही स्वादिष्ट और फायदेमंद होती है।

बनाना शेक

बनाना शेक तो सभी का मनपसंद होता है। इसको बनाने के लिए आपको आवश्यकता अनुसार एक या दो पके हुए केले लेने है। और एक कप दूध अगर आप चीनी डालना चाहते है, तो डाल सकते है। वरना आप शेक को मीठा करने के लिए इसमें शहद का इस्तेमाल भी कर सकते है। सभी सामग्री को इकठ्ठा करने के बाद, इन्हे ब्लेंडर में डालें। कुछ देर ब्लेंडर को चलने के बाद, जब यह अच्छी तरह से मिक्स हो जाएँ, तो आप बनाना शेक का आनंद ले सकते है। इसके अलावा आप इसके अंदर आइस करें भी डाल सकते है।

केला खाने के नुक्सान

वैसे तो केला खाने का कोई भी नुसकान नहीं होता है। अगर आप इसका सही मात्रा और सही तरीके से सेवन करते है। लेकिन कुछ बातें है, जो आपको केले का सेवन करने से पहले जान लेनी चाहिए।

केले के अंदर समृद्ध मात्रा में फाइबर पाया जाता है, अगर आप केले का ज्यादा सेवन कर लेते है, तो इससे पेट में गैस और पेट फूलने जैसी समस्या का आपको सामना करना पड़ सकता है।

इसके अलावा केले के अंदर पोटैशियम, ज़िंक, और मैग्नीशियम भी समृद्ध मात्रा में होते है। अगर शरीर में इन मिनिरल्स की मात्रा अधिक हो जाती है, तो यह हाइपरकलेमिया जैसी समस्याओं का खतरा हो सकता है।

इन सबसे बचने के लिए आपको हमेशा नियंत्रित मात्रा में केले का सेवन करना चाहिए। क्योकिं कोई भी चीज अगर अधिक मात्रा में खायी जाती है, तो वह नुक्सान देती है।

क्या हर दिन एक केला खाना ठीक है?

प्रतिदिन एक से दो केले का सेवन स्वास्थ्य के लिए लाभदायक माना जाता है। यह शरीर को कई जरुरी पोषक तत्व प्रदान करता है। लेकिन आपको केला खाते समय इसकी मात्रा का हमेशा ध्यान रखना चाहिए। इसको कभी भी एक नियंत्रित मंत्र से ज्यादा सेवन ना करे।

क्या केला पेट की चर्बी को बढ़ाता है।

नहीं, केला पेट की चर्बी को नहीं बढ़ता है। यह एक बहुमुखी फल है, जो वजन कम और वजन को नियंत्रित रखने के लिए उपयोग किया जाता है। केले को कुकीज़, या अन्य समय की बजाय इसे नाश्ते मैं खाना चाहिए। इसके अंदर कार्बोहाइड्रेट भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसका सेवन ज्यादातर कसरत करने से पहले किया जाता है।

कौन सा केला सेहत के लिए अच्छा है?

अगर आप सेहत के लिए केले का सेवन करना चाहते है, तो पका हुआ भूरे रंग का केला सबसे अच्छा होता है। इसके अंदर सबसे अधिक एंटीबायोटिक्स पाए जाते है। यह शरीर की दिनचर्या में होने वाली पोषक तत्वों की कमी को पूरा करता है। केले का सेवन स्नैक के रूप में भी किया जा सकता है।

क्या केला मिल्कशेक स्वास्थ्य के लिए अच्छा है?

अगर आप अपने वजन को कम करना चाहते है, या फिर खुद को फिट रखना चाहते है, तो आप केले का मिल्कशेक सेवन कर सकते है। इसमें आपको उच्च कैलोरी और उच्च वसा वाले पोषक तत्व मिल जाते है। केले के मिल्कशेक को आहार के रूप में भी सेवन किया जा सकता है। जिन लोगो को केले से एलर्जी होती है, उन्हें केले के मिल्कशेक से बचना चाहिए।

क्या कच्चा केला एक सब्जी है?

कच्चे केले मजबूत होते है, इन्हे कच्चा नहीं खाया जा सकता है। कच्चे केले को सब्जी के रूप में पकाकर खाया जाता है। कच्चे केले को उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में एक मुख्य भोजन के रूप में सेवन किया जाता है।

क्या हरा केला स्वास्थ्य के लिए अच्छा है?

हरे केले पीले या पके हुए केले की अपेक्षा ज्यादा पोषक तत्व प्रदान करते है। हरे केले के सेवन से पाचन क्रिया मजबूत होती है। हालाँकि कुछ लोगो को हरे केले का स्वाद कड़वा लगता है, लेकिन यह स्वास्थ्य के लिए लाभदयक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *