अंतरिक्ष के कुछ सबसे बेहतरीन व मजेदार फैक्ट्स

Best Space Facts in Hindi

 की रिपोर्ट के अनुसार हमारा सोलर सिस्टम 4.5 बिलियन साल पुराना है जो कि उस समय घने बादल, धूल और गैस के रूप में था।

सिर्फ हमारे ग्रहों के ही चाँद नहीं होते बल्कि छोटे क्षुद्र ग्रहों के भी खुद के चाँद होते है और ये चाँद क्षुद्रग्रहों के चक्कर लगाते है। अभी के वैज्ञानिकों ने 300 से अधिक क्षुद्रग्रहों का पता लगाया है जिनके पास खुद के चाँद है जबकि कुछ क्षुद्रग्रहों के पास दो चाँद मौजूद है।

पृथ्वी इकलौता ऐसा ग्रह नहीं है जिसके पास चाँद हो हमारे सौर मंडल पर लगभग 150 के करीब चाँद है जिसमें से प्लूटो के पास 5 चाँद है जबकि बुद्ध व शुक्र ही ऐसे ग्रह है जिनका कोई चाँद नहीं है। 2017 में नाम का उपग्रह खोजा गया था जिसके पास भी 2 चाँद थे।

अंतरिक्ष के कुछ सबसे बेहतरीन व मजेदार फैक्ट्स | Most Amazing Facts about Space in Hindi

अंतरिक्ष मे पाये जाने वाले ऐसे तारे होते हैं जिनका आकार बहुत छोटा होता है लेकिन बहुत ज्यादा घनत्व होने के कारण एक चम्मच के आकार के न्यूट्रॉन तारे का वजन 4 बिलियन टन तक होता है। न्यूट्रॉन स्टार एक सेकंड में 600 बार घूमते है और 2 न्यूट्रॉन तारे के टकराने से का निर्माण हो सकता है।

अंतरिक्ष पूरी तरह से शांत है क्योंकि वहां कोई हवा नहीं है इसलिए अंतरिक्ष मे किसी भी प्रकार की आवाज सुनाई नहीं देती और हवा न होने के कारण चाँद पर जो भी निशान है वे कई सालों तक वैसे ही बने रहते हैं।

(Saturn) एक ऐसा ग्रह है जो पानी पर तैर सकता है क्योंकि यह अधिकतर गैस से बना हुआ है जिस कारण इसका घनत्व बहुत कम है।

अंतरिक्ष के कुछ सबसे बेहतरीन व मजेदार फैक्ट्स | Most Amazing Facts about Space in Hindi

x

प्लूटो हमारी पृथ्वी से इतनी दूर है कि अगर हम हवाई जहाज में बैठ कर भी प्लूटो की तरफ जाते हैं तो आज की टेक्नोलॉजी के हिसाब से हमें वहाँ पहुंचने में 800 साल लग जाएंगे।

बृहस्पति  हमारे सौर मंडल का सबसे गर्म ग्रह है जिसका तापमान 450℃ तक हो सकता है, बृहस्पति ग्रह का एक दिन पृथ्वी के 243 दिन के जितना होता है क्योंकि बृहस्पति अपने कक्ष में बहुत आराम से घूमती है और इसे अपना एक चक्कर पूरा करने में में पृथ्वी के 243 दिन लग जाते हैं।

पृथ्वी के भूकंप  की तरह ही चाँद पर भी कम्पन होती है जिसे Moonquake कहा जाता है और चाँद में कोई हवा न होने के कारण इसके दाग लम्बे समय तक चाँद पर रह जाते हैं।

शनि ग्रह का एक चाँद है और ये सौर मंडल का इकलौता ऐसा सैटेलाइट चाँद है जो दो रंगों का है, ये एक तरफ से सफेद है जबकि एक तरफ से हल्के काले रंग का है और वैज्ञानिक भी साफ तौर पर बता नहीं पाए है कि इसके दो रंगों का कारण क्या है।

अंतरिक्ष के कुछ सबसे बेहतरीन व मजेदार फैक्ट्स | Most Amazing Facts about Space in Hindi

2018 हमारे सौर मंडल में ढूंढ़ी गयी अब तक की सबसे दूर की वस्तु है जो सूर्य से 19.78 ± 0.22 बिलियन किलोमीटर दूर है। इसे 2018 में खोजा गया था और फरबरी 2021 में दुनिया के सामने इसकी खोज की घोषणा की गई थी। सूर्य से इतनी दूर होने की वजह से इसे निकनेम दिया गया है।

हम आसमान में जिस भी तारे को देखते हैं वह उस समय वहां मौजूद नहीं होता क्योंकि तारे पृथ्वी से हजारों प्रकाश वर्ष दूर है इसीलिए अभी आसमान में मौजूद तारे की रोशनी को पृथ्वी तक पहुंचने में कई वर्ष लग जाते हैं जिसके बाद ही वे हमें दिखाई देते हैं। इसी प्रकार अगर 200 मिलियन प्रकाश वर्ष दूर कोई एलियन हमारी पृथ्वी को बहुत ही आधुनिक टेलिस्कोप से देख रहा हो तो भी 200 मिलियन प्रकाश वर्ष की दूरी के कारण उन्हें पृथ्वी पर जुरासिक काल के डायनासोर दिखाई दे रहे होंगें।

वैज्ञानिकों नेनाम का ऐसा द्वि तारा खोजा था जो हीरों से भरा हुआ है। यह हमारी पृथ्वी से 41 प्रकाश वर्ष दूर है और आकार में पृथ्वी से दोगुनी है। यह द्वि तारा कार्बन से बना है और कार्बन से बने अपने तारे के चक्कर काटते रहता है, इस द्वितारे का तापमान 1300° से 1400° सेल्शियस के बीच रहता है और इतना ज्यादा तापमान होने के कारण इसकी सतह पर मौजूद कार्बन हीरे में बदलता रहता है।

2006 में खोजा गया ग्रह अब तक का खोजा गया अंतरिक्ष का सबसे अंधेरा या काला ग्रह है। यह हमारी पृथ्वी से 750 प्रकाश वर्ष दूर है और अपने ऊपर पड़ने वाली 1% से भी कम रोशनी को प्रतिबिंब करता है।

अंतरिक्ष के कुछ सबसे बेहतरीन व मजेदार फैक्ट्स | Most Amazing Facts about Space in Hindi

के एक अध्ययन के अनुसार हर सेकंड सूरज का वजन घटता रहता है। सूरज हर सेकंड अपना 4.3 मिलियन टन वजन खोता रखता है। लेकिन राहत की बात यह है कि ये वजन सूरज के भार का सिर्फ 0.0000000000000000002 ही है यानी कि समुद्र से एक बाल्टी पानी निकालने जितना।

अंतरिक्ष मे जब भी एक जैसे धातुओं के दो टुकड़ों को एक दूसरे से मिलाया जाता है तो वे हमेशा के लिए एक दूसरे से चिपक जाते हैं और इस प्रक्रिया को  नाम दिया गया है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि अंतरिक्ष में हवा और पानी मौजूद नहीं होता और एक जैसी धातु के अलग अलग टुकडों के कण खुद को एक ही धातु समझ लेते है।

हमारी पृथ्वी और अंतरिक्ष के बीच की बाउंड्री लाइन है। Kármán line हमारी पृथ्वी से 100 किलोमीटर ऊपर मौजूद है, यानी कि पृथ्वी से 100 किलोमीटर ऊपर से अंतरिक्ष शुरू हो जाता है।

जुपिटर हमारे सौर मंडल का सबसे बड़ा ग्रह है। हमारे सौर मंडल में मौजूद सभी ग्रहों को मिला कर भी ये सभी से 2.5 गुना बड़ा है और पृथ्वी की आकार के 1300 ग्रह जुपिटर में समा सकते है। इसके विपरीतx हमारे सौर मंडल का सबसे छोटा ग्रह है लेकिन ये सौर मंडल का सबसे तेज घूमने वाला ग्रह है जो 47 किलोमीटर/सेकंड की रफ्तार से घूमता है।

वैज्ञानिकों ने पृथ्वी से 12 बिलियन प्रकाश वर्ष दूर ब्रह्मांड का अब का सबसे बड़ा पानी का स्त्रोत खोजा है। ये पानी  नाम के ब्लैकहोल में वाष्प के रूप में मौजूद है और यहां पृथ्वी के सभी समुन्द्रों के पानी को मिला कर भी 140 ट्रिलियन गुना ज्यादा पानी मौजूद है।

अंतरिक्ष के कुछ सबसे बेहतरीन व मजेदार फैक्ट्स | Most Amazing Facts about Space in Hindi

चाँद हमारी पृथ्वी से हर साल 3.78 सेंटीमीटर दूर खिसकते जा रहा है, लेकिन चाँद को पृथ्वी से पूरी तरह दूर होने में करोड़ों साल लग जाएंगे और तब तक पृथ्वी और चाँद में बहुत ही चीजें बदल चुकी होंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *